Hamara Hai Yeh Dridh Sankalp
Pragya Geet Mala - All Songs

हमारा है यह दृढ़ संकल्प

हमारा है यह दृढ़ संकल्प, नया संसार बसायेंगे।
नया इन्सान बनायेंगे, नया संसार बसायेंगे॥
क्षीर सागर में सोया जो, उसे झकझोर जगायेंगे।
उसे प्रिय है केवल इन्साफ, जगत् को यह समझायेंगे।
कर्मफल देना जिसका काम, नया भगवान् बनायेंगे॥
विषमता नहीं टिकेगी कहीं, एकता समता लायेंगे।
न होगा नारी का अपमान, उसे गुणखान बनायेंगे।
निकम्मे प्रचलन बदलेंगे, धरा को स्वर्ग बनायेंगे॥
न आलस बरतेगा कोई, उठेंगे और उठायेंगे।
पसीने की रोटी पर्याप्त, मुफ्त का माल न खायेंगे।
करे जो आदर्शों से प्रीति, नया ईमान बनायेंगे॥
चलेंगे नहीं छद्म पाखण्ड, सच्चाई सब अपनायेंगे।
भ्रान्तियों की न गलेगी दाल, ज्ञान के दीप जलायेंगे।
अँधेरे को न मिलेगा ठौर, नया अभियान रचायेंगे॥
उनींदे नहीं रहेंगे हम, जगेंगे और जगायेंगे।
रहेंगे मिल-जुलकर सब एक, हँसेंगे और हँसायेंगे।
करे जो दुर्गा को साकार, नया सहकार जगायेंगे॥

मुक्तक :-
सुनो व्रत ले लिया हमने, सदा इसको निभायेंगे।
मशालें क्रांति की हम आज, घर-घर में जलायेंगे।।
मनुज को त्रस्त करती जो, वही जड़ता मिटायेंगे।
हृदय का ताप हरने, ज्ञान की गंगा बहायेंगे।।
Pledging for being better human and making others the same.


Comments

Post your comment
ashok dhoke
2012-03-11 17:03:45
pu.Gurusatta dwara likha yah geet ham sabko kartvya nistha se jod deta hain.
Info
Song Visits: 4251
Song Plays: 2
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 8:60