Abhi Talak Jo Nahi Kiya Hai
Pragya Geet Mala - All Songs

अभी तलक जो नही किया हो अब ऐसा कुछ कर दिखलायें
नये सृजन हित आगे आएं चलो साथियो कदम बढ़ायें


गुरूवर के हम सब अंशी है एक अंश क्या हममें आया
पावन प्यार मिला जो गुरू से क्या वह हमें बांटना आया
गुरू से प्रखर प्रेरणा लेकर सृजन कर्म हम कर दिखलायें
नये सृजन हित आगे आएं जन्म शताब्दी वर्ष मनायें ।

गुरूवर त्याग तपस्यामय है क्या थोडा़ हम भी तप पायें
गुरू जैसा आचरण बना क्या तपहः पूत सा हम ढल पायें
प्रखर तपस्वी बनकर के हम गुरूकारज में हाथ बंटाये
नये सृजन हित आगे आएं जन्म शताब्दी वर्ष मनायें ।

वेद मूर्ति है गुरू हमारे क्या हम वेद दूत बन पायें
ज्ञान प्रकाश प्राप्त कर गुरू से क्या जन जन तक पहंुचा पायें
सद्विचार को स्वयं पढ़ें हम गुरू विचार घर घर तक फैलायें
नये सृजन हित आगे आएं जन्म शताब्दी वर्ष मनायें ।

पास हमारे जो भी रहते प्यार उन्हें क्या बांट सकें है
किसी वजह से टूटे है जो उन हृदयों को जोड़ सके है
बिछड़ो को भी गले लगाकर दुखी मनो को सुख पहुंचायें
नये सृजन हित आगे आएं जन्म शताब्दी वर्ष मनायें ।

जैसा गुरू ने किया समर्पण वैसा क्या हम भी कर पायें
मन वाणी से और कर्म से गुरू निर्देशों पर चल पायें
शक्ति उन्ही से लेकर हम भी पूर्ण समपर्ण कर दिखलायें
नये सृजन हित आगे आएं जन्म शताब्दी वर्ष मनायें ।

अभी तलक जो नही किया हो अब ऐसा कुछ कर दिखलायें
नये सृजन हित आगे आएं जन्म शताब्दी वर्ष मनायें ।


Comments

Post your comment
omprakash usendi
2012-04-17 12:41:21
jay gurudev
Info
Song Visits: 1987
Song Plays: 4
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 6:13