Aaj Aisi Kripa
Pragya Geet Mala - All Songs

आज ऐसी कृपा आप कर
आज ऐसी कृपा आप कर दीजिए,
प्राण में सिन्धु सा ज्वार भर दीजिए॥
प्राण में क्रांति के स्वर मचलने लगे,
भाव संवेदनाएँ उछलने लगे।
क्रांति की राह पर ये चरण चल पड़े,
और व्यवधान के शीश पर जा चढ़े॥
क्रांति में प्राण फूँके वे स्वर दीजिए॥
आत्मबल हेतु आध्यात्मिक क्रांति हो,
दूर अज्ञान हो, दूर भ्रम भ्रांति हो।
दोष से दुर्गुणों से मनुज बच सके,
दुव्र्यसन का नशे का न पंजा कसे॥
ज्ञान के पुंज प्रज्ञा प्रखर दीजिए॥
क्रांति पथ पर बढ़े हैं हमारे चरण,
शक्ति सम्बल प्रभो! आपका कर वरण।
क्रांति का शंख फूँके चले जायेंगे।
पर तभी आपकी जब कृपा पायेंगे,
दूर अज्ञान का सब तिमिर किजिए॥
हम न भूलें कभी भी तुम्हारे वचन,
साधना हेतु करते रहें नित यतन।
प्रिय लगे सर्वदा प्रभु तुम्हारे चरण,
नित्य अर्पित करें भाव श्रद्धा सुमन।
इन मनों को सुमन नाथ कर दीजिए॥


Comments

Post your comment
vipin mandloi
2012-03-21 21:05:43
good song
Info
Song Visits: 2155
Song Plays: 12
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 7:39