Ghar Ghar Alakh Jagayenge
Pragya Geet Mala - All Songs

घर-घर अलख जगायेंगे
घर-घर अलख जगायेंगे, हम बदलेंगे ज़माना।
निश्चय हमारा, ध्रुव-सा अटल है।
काया की रग-रग में, निष्ठा का बल है॥
जागृति शंख बजायेंगे, हम बदलेंगे ज़माना॥
बदली हैं हमने, अपनी दिशायें।
मंजिल नयी तय, करके दिखायें॥
धरती को स्वर्ग बनायेंगे, हम बदलेंगे ज़माना॥
श्रम से बनायेंगे, माटी को सोना।
जीवन बनेगा, उपवन सलोना॥
मंगल सुमन खिलायेंगे, हम बदलेंगे ज़माना॥
पीड़ा पतन की, तोड़ेंगे कारा।
ममता की निर्मल, बहायेंगे धारा॥
समता का दीप जलायेंगे, हम बदलेंगे ज़माना॥
माता गायत्री की, हम पर है छाया।
अनुभव हम करते हैं, गुरुवर का साया॥
शुभ संस्कार जगायेंगे, हम बदलेंगे ज़माना॥

मुक्तक :-
ज्ञानज्योति लेकर गुरुवर की, द्वार-द्वार जायेंगे।
उनके चिन्तन की सुगन्ध हम, घर-घर फैलायेंगे॥
इसके लिए समय, श्रम, साधन, नियमित दिया करेंगे।
यूँ सूरज का काम रश्मियाँ, बनकर किया करेंगे॥
Revision of heaven on earth.


Comments

Post your comment
gajendra lohar
2018-08-24 06:58:08
nice
Kartik kumar
2018-08-19 17:11:12
Good
hiren
2013-01-02 05:03:28
i like to get the prerna geet from 1993 ashwamegh yagna time, teri karunkarah hamare kano se takraee, veer desh ki mati humne teri shapath udhaee, please , if possible gimme a link to download. thank you jai gurudev
Prahlad kr. Verma
2012-10-31 12:12:41

2012-10-31 12:11:18

2012-10-31 12:10:46
PS CHOUHAN
2012-10-24 10:44:13
very nice nice sung song,Bahut preranadayak geet ha
Info
Song Visits: 16628
Song Plays: 0
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 4:31