Gurudev Aap Aisi Jhankar
Pragya Geet Mala - All Songs

गुरुदेव आप ऐसी झंकार
गुरुदेव आप ऐसी, झंकार दे गये हैं।
देते हैं शान्ति मन को, वह स्वर नये-नये हैं॥
मद-मोह, काम-क्रोध की,अतिशय कठोर माया।
इन शत्रुओं ने मिलकर, जी भर हमें सताया।
षड्रिपु डरे हुए हैं, टंकार दे गये हैं॥
फैली हैं आज घर-घर, अगणित उपासनायें।
कुछ भी समझ न पाते, किसकी शरण में जाएँ।
ऐसे में आद्यशक्ति का, अधिकार दे गये हैं॥
संसार मोह-माया, मिथ्या गया बताया।
कर्तव्य किन्तु श्रेष्ठ है, यह आपने पढ़ाया।
हमको महानता के, संस्कार दे गये हैं॥
तन को सुखा-सुखाकर,जिसको न पा सके हम।
मन को दु:खा-दुखाकर, जिस तक न जा सके हम।
शिव-शक्ति जागरण का, आविष्कार दे गये हैं॥
साकार ब्रह्मदर्शन, मन था समझ न पाया।
प्रभु आपने उसे भी, साकार कर दिखाया।
फिर आप ही स्वयं क्यों, निराकार हो गये हैं॥
मुक्तक-
जब तक गंगा यमुना में जल, जब तक चाँद सितारे हैं।
जब तक मंदिर, मस्जि़द, गिरजाघर हैं औ गुरुद्वारे हैं॥
अमर रहेगा नाम आपका, तब तक इस संसार में।
हे गुरुदेव! आपने सबको, जोड़ा ऐसे प्यार में।।


Comments

Post your comment
Info
Song Visits: 2461
Song Plays: 0
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 4:57