Akshay Kosh Mila Jab
Pragya Geet Mala - All Songs

अक्षय कोश मिला जब मैने अपना सारा कोश लुटाया

अक्षय कोश मिला जब मैने अपना सारा कोश लुटाया
मैने सब देकर सब पाया।
अक्षय कोश मिला जब मैने अपना सारा कोश लुटाया
जाने कब से मै पागल बन मिटटी को समझी थी कंचन
प्रीत तुम्हारी कुपा किरण ने दिया मुझे अनमोल ज्योति कण
जिसके दिव्य प्रकाश पुंज में मैने नूतन पंत बनाया
मैने सब देकर सब पाया,
अक्षय कोश मिला जब मैने अपना सारा कोश लुटाया
मैने सब देकर सब पाया।

लक्ष्य प्राप्त करने का यदि प्रण करो विभव का दूर प्रलोभन
कहीं न राके पद की गति को सोने चांदी के आकर्षण
छाया बनकर सबको रोके मन की मृगतृष्णा की माया
मैने सब देकर सब पाया,
अक्षय कोश मिला जब मैने अपना सारा कोश लुटाया
मैने सब देकर सब पाया।

दिव्य तुम्हारा पूजन अर्चन करता है मन प्रति पल प्रति क्षण
“अहं ब्रह्य” बन धान्य बनू मैं सिद्ध बने यह आत्म समर्पण
ज्ञातन मै प्रभू बनी कि मेरा प्रभू ही मुझमें आज समाया
मैने सब देकर सब पाया,
अक्षय कोश मिला जब मैने अपना सारा कोश लुटाया
मैने सब देकर सब पाया।


Comments

Post your comment
Info
Song Visits: 1737
Song Plays: 1
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 10:10