Hota Hai Sare Vishwa Ka Kalyan
Pragya Geet Mala - All Songs

होता है सारे विश्व का
होता है सारे विश्व का, कल्याण यज्ञ से।
जल्दी प्रसन्न होते हैं, भगवान् यज्ञ से॥
ऋषियों ने ऊँचा माना है, स्थान यज्ञ का।
भगवान् का यह यज्ञ है, भगवान यज्ञ का।
जाता है देवलोक में, इन्सान यज्ञ से॥
जो कुछ भी डालो यज्ञ में, खाते हैं अग्निदेव।
एक-एक के बदले सौ-सौ, दिलाते हैं अग्निदेव।
पैदा अनाज करते हैं, भगवान् यज्ञ से॥
होता है कन्यादान भी, इसके ही सामने।
पूजा है इसको कृष्ण ने, भगवान् राम ने।
मिलती है राजकीर्ति व सन्तान यज्ञ से॥
इसका पुजारी कोई, पराजित नहीं होता।
इसके पुजारी को कोई भी, भय नहीं होता।
होती है सारी मुश्किलें, आसान यज्ञ से॥
चाहे अमीर हो कोई, चाहे गरीब है।
जो नित्य यज्ञ करता है, वह खुश नसीब है।
उपकारी मनुज बनता है, देवयज्ञ से॥
मुक्तक-
यज्ञ पिता हैं सुर-संस्कृति के, यज्ञ सृष्टिï के निर्माता हैं।
इसीलिए हर संस्कार में, आवश्यक समझा जाता है॥
देवशक्तियाँ यज्ञदेव, द्वारा ही तो प्रसन्न होती हैं।
जीवन, प्राण, धान्य, समृद्धि, यश, वैभव ‘होता’ पाता है॥


Comments

Post your comment
Info
Song Visits: 8171
Song Plays: 2
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 6:31