Holi Ka Aya Tyohar
Pragya Geet Mala - All Songs

होली का आया त्यौहार
होली का आया त्यौहार, बहार लिये संग में।
मस्ती का हुआ संचार, संचार रग-रग में॥

कोई वीराना न कोई पराया।
जो भी मिला वो गले से लगाया॥
समता का आया उभार, उभार जन-जन में॥

मस्ती का आलम है सुस्ती हराम है।
अंग-अंग पुलक रहा दु:ख का क्या काम है॥
रस से भरा है संसार, संसार पग-पग में॥

द्वेष, बैर को होली में झोंको।
गन्दी मलिनता को झाड़ पोंछ फेंको॥
शठता पर है ये प्रहार, प्रहार घर-घर में॥

कोई गरीब है न कोई अमीर है।
ना कोई सेठ है न कोई फकीर है॥
सबमें उमड़ता है प्यार, प्यार हर दिल में॥

मुक्तक-
नये सृजन का सुखद सन्देशा, होली पर्व है लाया।
जो है श्रद्धावान स्वयं, अनुदान वही ले पाया॥


Comments

Post your comment
Info
Song Visits: 4418
Song Plays: 4
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 3:57