Jeevan Ke Devta Ko
Pragya Geet Mala - All Songs

जीवन के देवता को
जीवन के देवता को, आओ तनिक सँवारे।
जीवन ही देवता है, क्यों और को पुकारें॥

है आत्म ज्ञान होता, अपने को जानने से।
जीवन महान बनता, अपने को साधने से।
अपना सुधार करके, देवत्व को निखारें।।

है यह शरीर मन्दिर, हो शुद्घता वहाँ पर।
विश्वास आस्था के, हों देवता जहाँ पर।
सद्भाव और सद्गुण, की आरती उतारें।।

जीवन के देवता से, अवतार भी प्रकट हों।
जीवन अगर सधे तो, भगवान भी निकट हों।
चिन्तन चरित्र में हम, यदि श्रेष्ठता उभारें।।

सबसे समीप है यह, जाना नहीं कहीं पर।
है शक्ति स्रोत अद्भुत, हैं तीर्थ सब यहीं पर।
होंगे विराट् दर्शन, निज रूप तो निहारें॥
मुक्तक :-
दुर्लभ जन्म मिला है हमको, साधें तन-मन जीवन।
आत्मबोध से तत्वबोध से, जीवन बनयें दर्पण।।
जीवन के देवता को, हम यदि प्रसन्न करलें।
वरदान भी मिलेंगे, सजने लगेगा जीवन।।


Comments

Post your comment
vipin mandloi
2012-03-25 09:32:43
graceful song
Info
Song Visits: 2925
Song Plays: 2
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 6:33