Honhar Desh Ke
Pragya Geet Mala - All Songs

होनहार देश के
होनहार देश के, कर्णधार देश के।
देश की पुकार पर, आज तुम बढ़े चलो॥
मातृभूमि के लिए, प्राण के जला दिये।
तुम नयी बहार को, ज्योति का शृंगार दो॥
जोश यह घटे नहीं, पाँव अब हटें नहीं।
पाठ स्वाभिमान का, आज तुम पढ़े चलो॥
यह धरा दहल उठे, सिन्धु भी मचल उठे।
तुम जिधर चरण धरो, जीत का वरण करो॥
तुम कहीं रुको नहीं, तुम कहीं झुको नहीं।
आज आसमान पर, शान से बढ़े चलो॥
देश के गुमान तुम, शूरमाँ महान्ï तुम।
तुम अमर सपूत हो, तुम ही शान्तिदूत हो॥
क्रान्ति की मशाल बन, और बेमिसाल बन।
त्याग की कहानियाँ, आज तुम गढ़े चलो॥
मुक्तक-
भारत माता के गौरव हो, तुम तो अरे! सृजन सेनानी।
मातृभूमि के लिये दिये हैं, तुमने प्राण अरे! बलिदानी॥
देश, धर्म के लिये तुम्हें फिर, तूफानों से टकराना है।
नवयुग स्रष्टा के सैनिक हो, तुम हो अरे! विश्वनिर्माणी॥
मुक्तक- हमने पायी थाह आज माँ-
प्यार तुम्हारा पिया बहुत माँ, पीनी है अब पीर तुम्हारी।
चुका सके ऋण थोड़ा भी तो, जागेगी तकदीर हमारी॥
तेरी शपथ उठाते हैं माँ!, तिल-तिलकर हम जल जायेंगे।
तेरा नेह प्रकाश बनाकर, दुनियाँ भर में फहरायेंगे॥
Patriotic Song for Youth.


Comments

Post your comment
chandrashekhar or gupta
2014-06-04 22:45:27
I agree
Info
Song Visits: 2433
Song Plays: 3
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 4:07