Aaj Kar Do Kirpa
Pragya Geet Mala - All Songs

आज कर दो कृपा
आज कर दो कृपा मां तू वरदायनी ,स्वच्छ शालीन अंतःकरण हो सके।
दोष दुर्भाव दुष्कर्म का हो शरण और सद्वृत्तियांे का हो वरण हो सके।
आज कर दो कृपा मां
बुद्धि दो हम सुपथ का चयन कर सकें, फिसलनों पर स्वयं संतुलन कर सके ।
खाइयों के निकट हम संभल कर चले, छांह अमराइयों की न हमको छलें।
विध्न बाधा ढलानों भरे मार्ग पर एक, पल भी न डगमग चरण हो सके।
आज कर दो कृपा मां तू वरदायनी।।
मां तू इतना विपुल धन न देना हमें, स्वार्थ से पूर्ण जीवन न देना हमें।
प्राप्त कर हम जिसे भूल जायें विनय, लोक कल्याण को मिल न पाये समय।
मोह संर्कीणता से न मन भर सके, सिर्फ सद्वृत्ति का जागरण हो सके।
आज कर दो कृपा तू वरदायनी़
सृष्टि में प्यार हो पर प्रलोभन न हो, जिंदगी में जरा भी प्रदर्शन न हो।
प्यार से छलछलाता हृदय दो हमें कंठ में सौम्यता दो विनय दो हमें।
भाव संवेदनापूर्ण व्यवहार से विश्व का स्वस्थ वातावरण हो सके।
आज कर दो कृपा
मां हमे विश्व परिवार का भाव दो, लोक हित के लिए नित नया चाव दो।
विश्व दुर्भावना से न हम भर सके दूसरों की गहन पीर कम कर सके ।
कर्म से आत्म संतोष पाये सदा आचरण का सहज अनुकरण हो सके
आज कर दो कृपा तू वरदायनी़
Disciples wants blessing from mata.


Comments

Post your comment
Satyam pandey
2018-11-18 23:01:55
Nyc

2013-12-22 19:26:12

2013-12-22 19:25:25

2013-12-19 08:13:55
vipin mandloi
2012-03-26 07:54:04
graceful song
Info
Song Visits: 3402
Song Plays: 1
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 9:50