Ghane Andhere Me
Pragya Geet Mala - All Songs

घने अँधेरे में हम

घने अँधेरे में हम घिरे हैं।
दिखाओ सत्पथ हे! वेदमाता।।
सिवा तुम्हारे न कोई सम्बल।
दया करो हे! दयालु माता।।
न हममें तप है न पुण्य अर्चन,
न कोई शक्ति न आत्म चिन्तन।
सफल बनाने मनुष्य जीवन,
बढ़ें किस तरह न कोई साधन।।
बढ़ाओ आँचल सिखाओ चलना।
न यह सुअवसर सदैव आता।।
है मोह-माया के बंध भारी,
भटक रहे माँ तेरे पुजारी।
है चुक गई अपनी शक्ति सारी,
माँ अब तो केवल है तेरी बारी।
बिना तुम्हारी कृपा किरण के,
न कोई भक्ति न ज्ञान पाता।।
जगा दो मानस में ज्ञान ज्योति,
दिखा दो अंत: के दिव्य मोती।
तुम्हारी करुणा है दिव्य सागर,
न रिक्त रह जाये छोटी गागर।।
करें असंभव भी कार्य संभव,
जो तेरे पथ पर कदम बढ़ाता।।

मुक्तक :-
शक्तिरूपा ज्योतिरूपा, माँ हमें वरदान दो।
सृजन पथ पर पग बढ़ायें, शक्ति दो सद्ज्ञान दो॥


Comments

Post your comment
Suman bala sharma
2019-04-03 10:21:07
Mujhe tihri mai sadhna satra karna h
Pushpa arora
2019-03-22 22:30:09
Pl.send detail
Jai Gopal
2019-03-22 20:08:38
jai mata di
TARESH
2014-11-11 16:19:31
Hari om
RACHANAKABRA
2013-01-19 21:27:07
I KNOW ABOUT OUR MISSIONS WORK
krishan kumar
2012-08-09 14:47:15
Info
Song Visits: 2701
Song Plays: 7
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 8:10