loadCommonFile(); $CSS->loadCommonFile(); ?>
Jagat Vande Maa
Pragya Geet Mala - All Songs

जगत्वन्द्य माँ शक्ति दो
जगत्वन्द्य माँ, शक्ति दो साधना दो।
अचल अर्चना, दो अटल वन्दना दो॥
हमें भक्ति दो, सर्वदा प्रेम मण्डित।
हमें ज्योति दो वह, सदा जो अखण्डित।
न इच्छा रहे ना, बसे वासना माँ।
तुम्हीं में मगन मन, यही कामना दो॥॥
न हो हर्ष में, शोक में क्षुब्ध यह मन।
सतावें न सुख-दु:ख, कटें मोह बन्धन।
सभी यह तुम्हारा, तुम्हारे सभी हैं।
तुम्हीं सर्वमय हो, यही भावना दो॥
कभी काम की, कल्पना न कँपाये।
कभी क्रोध-प्रतिशोध, होकर न आये।
जले राग की, आग में मन न मेरा।
यही धारणा दो, यही भावना दो॥
विषय वासना, विष भरी है कटारी।
यही बुद्धि दे-दो, बनें सदाचारी।
मिले मान अपमान, पथ में तुम्हारे।
लगें सब परम प्रिय, यही धारणा दो॥
मुक्तक :-
माँ गायत्री दीजिए, यह शाश्वत वरदान।
तीर बने मम साधना, सेवा, कर्म कमान।।
Devotional Song,Devotee wants shakti as well as bhakti from mata.


Comments

Post your comment
Info
Song Visits: 9032
Song Plays: 11
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 7:28