Aap Himat Badhakar
Pragya Geet Mala - All Songs

आप हिम्मत बंधाकर हमें चल दिये

आप हिम्मत बंधाकर हमें चल दिये
किन्तु स्वामित्व की याद तो आएगी,
पास हमको बिठा प्यार देते रहे।
वह कृपा दृष्टि कैसे न याद आएगी,

आप हिम्मत बंधाकर हमें चल दिये

जब समस्या उठी दौड़ हम आ गए,
आप से हर समाधान हम पा गए।
दर्द जो भी हुआ आप ने पी लिया,
घाव को स्नेह के सूत्र से सी दिया।
अब बिलखता हुआ छोड़कर चल दिए,
अब कहो पीर किससे कही जाएगी।
पास हमको बिठा प्यार देते रहे।
वह कृपा दृष्टि कैसे न याद आएगी,

आप हिम्मत बंधाकर हमें चल दिये

गोद मां की हमारे लिए रह गई,
वह स्वयं भी विरह वेदना सह रही।
किन्तु मां ने हृदय से लगाया हमें
हर तरह प्यार अब तक पिलाया हमें।
स्नेह से स्नात मां की मुदुल गोद में,
सुधि पिता की सहज ही न क्यों आएगी।
पास हमको बिठा प्यार देते रहे।
वह कृपा दृष्टि कैसे न याद आएगी,

आप हिम्मत बंधाकर हमें चल दिये

आंख से आप ओझल हुए है मगर
सूक्ष्म से प्राण मन में गए हैं उतर।
प्राण में प्रेरणा बन उछलने लगे,
कर्म मे भावना बन मचलने लगे।
आप की चेतना विश्व व्यापी हुई,
वह हमें क्यों नही नित्य दुलराएगी।
पास हमको बिठा प्यार देते रहे।
वह कृपा दृष्टि कैसे न याद आएगी,

आप हिम्मत बंधाकर हमें चल दिये

हम ऋणी आपके ही रहेंगें सदा ,
आपकी राह पर ही चलेंगें सदा।
ज्ञान की जो मशालें थमाई हमें,
लोक पथ में प्रकाशित रखेगें उन्हें।
तम मिटाते रहेंगें धरा धाम का,
कोई आंधी न इनको बुझा पाएगी।
पास हमको बिठा प्यार देते रहे।
वह कृपा दृष्टि कैसे न याद आएगी,

आप हिम्मत बंधाकर हमें चल दिये
किन्तु स्वामित्व की याद तो आएगी,
आप हिम्मत बंधाकर हमें चल दिये।


Comments

Post your comment
MUKESH KUMAR
2014-07-06 13:03:21
heart touching prayer of guruwar.
vipin mandloi
2012-03-24 17:47:04
graceful song
Info
Song Visits: 1763
Song Plays: 5
Song Downloaded : 0
Song
Duration : 8:39